Travel After Covid-19

संभवतः कोरोनोवायरस (Covid-19) pandemic  के बाद हमारे Travel करने के तरीके को बदल देगा। कोरोना के बाद हमारी Social Life कैसी होगी, हम सभी के व्यवहार में किस तरह के बदलाव आएंगे या दूसरों के  व्यवहार में हम क्या-क्या Changes देख सकते हैं ये तो आने वाला time हीं बताएगा। परन्तु जब हमारी लाइफ वापस से normal होने लगेगी तो travel से  Stress का स्तर कम करने में मदद मिल सकती है ,तो मैं आपको कुछ टिप्स देना चाहूंगी जिससे  आपको quarantine के बाद  अपनी यात्रा की योजना बनाने के रास्ते में help मिलेंगी।

1. आप अपने घर के करीब Tour plan करें :-

कोरोनावायरस के बाद Foreign Tour की Planning न बनाएं। पहले छोटी छोटी यात्राओं की योजना बनाएं ताकि आप आसानी से घर वापस पहुंच सकें। आप एक बड़ी यात्रा करने के बजाय कई बार छोटी यात्राएँ करें। केवल पड़ोसी राज्यों या देशों की यात्रा करने की योजना बनाएं ताकि आप हमेशा कार या  उड़ान द्वारा सबसे अधिक frequently  तैयार हों।

2. आप यात्रा के लिए पहले से हीं Travel Bucket list तैयार कर के रखें

यात्रा Bucket list  बनाने के साथ शुरू करें और अपनी पसंद को preference देने वाले कई destination चुनें। YouTube वीडियो देखें, travel blogs और books पढ़ें, उस  destination  पर travel shows  देखें   जहाँ भी आप जाना चाहते हैं। जब आप सूची बना रहे हों, तो उन्हें preference दें   जैसे कि आप कितने स्वस्थ  हैं  या जोखिम भरे देश में घूमने जा रहे है।  WHO की वेबसाइट, कोरोनावायरस Tracker और कोरोनावायरस Live Updates   की जाँच करते रहें, देखें कि किन देशों के पास simplest preventive measures  है आदि। उन स्थलों को चुनें, जो भीड़-भाड़ वाले स्थान ना हों और देखें कि वो स्थान कैसा है मतलब एकांत हो ,प्रकृति के करीब हों जैसे -पहाड़ी जगहें उत्तराखंड ,हिमाचल प्रदेश में वैसी जगहें जो शहरों के भीड़ से अलग है जिनमे से ऋषिकेश मेरी पसंदिता जगहों में से एक है। आप ऐतिहाहासिक स्थल पर भी घूम सकते हैं।

3. अपने trip को book करने से पहले ये जरूर check कर लें कि cancellation के option हैं या नहीं

Travel After Covid-19

आप आसान cancellation  policy वाले में अपना आवास बुक करें। हमेशा जांचें कि आपके आवास, ride, या Flight के लिए cancellation conditions  की नीति क्या है। cancellation  की शर्तों के बारे में जानकारी प्राप्त करना हमेशा आसान नहीं होता है, इसलिए थोड़ा time लगाकर चीज़ों को समझें  जल्दीबाज़ी बिलकुल भी ना करें और फाइन प्रिंट रखें।  आप यात्रा cancel करने वाले insurance खरीदने पर विचार कर सकते हैं। आप simplest value  के लिए observe कर सकते हैं और जरूरी नहीं कि बहुत कम दाम हों। कोरोनावायरस महामारी के बाद यात्रा, कई होटलों   में  excellent price-quality के लिए आपको आग्रह करना पड़ सकता है। लेकिन बुकिंग करते समय ध्यान रखें, विशेष रूप से unknown operators के साथ scams के मामले भी काफी बढ़ रहे हैं इससे आपको सावधान रहने की आवश्यकता है , यदि आप Hotels, Booking  Providers या Airlines  जैसे  well-known brands  के साथ चयन करना चाहिए , जिससे दिवालिया होने की संभावना कम है। इसके अलावा, उचित यात्रा बीमा का आग्रह करना न भूलें।

4. यात्रा करते समय सावधानी बरतें और Precautions लें

आपकी यात्रा के दौरान सुरक्षित और स्वस्थ रहने के लिए आपको सावधानी बरतने की जरुरत है जैसे – यदि हाथ संक्रमित हों और उन्हें धोकर साफ न किया जाए तो रोगाणु अपने परिजनों और मित्रों तक पहुंच सकता है। हाथ धोने से श्वास संबंधित बीमारियों को भी रोका जा सकता है। दरवाजे का हैंडल, टॉयलेट या बाथरूम के दरवाजे का हैंडल, नल की टोंटी, रेलिंग, लिफ्ट के बटन और ऐसे ही अनेक स्थान जो आमजन के साथ-साथ आपके इस्तेमाल में भी आते हैं तो उनके संपर्क से आप तक संक्रमित हो सकते हैं। ये रोगाणु संपर्क के जरिए शरीर में आसानी से पहुंच जाते हैं। यदि आपको मुंह, नाक और आंखों तक बार-बार हाथ पहुंचाने की आदत है तो अनजाने में ही आपके हाथों का संक्रमण मुंह और आंखों को प्रभावित करेगा। इन संक्रमणों की वजह से आप गंभीर रूप से बीमार पड़ सकते हैं। इसलिए टॉयलेट का इस्तेमाल करने के बाद साबुन से हाथ जरूर धो लें।

 .  यदि छोटे बच्चे को सार्वजनिक टॉयलेट में ले गए हों तो उसके और अपने हाथों को साबुन से धो लें।

रूमाल को नाक पर लगाकर छींकने के बाद हाथ धो लें।

याद रखें हैंड सेनिटाइजर यदि 60 प्रतिशत अल्कोहल की मात्रा वाला है तो ठीक वरना साबुन से ही हाथ धोएं।

बातचीत में करीब एक मीटर की रखें दूरी

अगर किसी व्यक्ति को खांसी या जुकाम है तो उससे बातचीत के समय कम से कम एक मीटर की दूरी रखें क्योंकि छींकने या खांसने के साथ सूक्ष्म चीज़ें भी बाहर आती हैं। अगर इनमें वायरस है तो आप सांस लेने के दौरान इन्हें भी ग्रहित कर लेंगे।

मास्क का इस्तेमाल करें

 मास्क पहनने से पहले साबुन से अच्छी तरह हाथ साफ करें।

चेहरे तक पूरी तरह सटाकर पहनें।

मास्क को बार-बार न छुएं।

एक बार इस्तेमाल किया हुआ मास्क दोबारा न पहनें।

उतारने के बाद इसे नष्ट कर दें। कई लोग एक ही मास्क को कई-कई दिन तक लगातार रखते हैं। ऐसा कतई न करें।

• restaurants में खाएं  तो  इसकी अच्छी तरीके से समीक्षा कर लें कि reviews  अच्छी हों और सफाई से बनी हों सारे guidelines  को follow करते हों इससे आप सुरक्षित रहेंगे ।

पता होना चाहिए कि आपके destination  के लिए emergency number  क्या है अगर कुछ गलत हो जाता है  कोई हों  जो आपकी सहायता कर सकता है यदि आप मदद चाहते हैं या अस्वस्थ महसूस करते हैं तो आपकी सहायता करे  बुखार, खांसी या सांस लेने में समस्या है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। ऐसा करके आप खुद को व बाकी लोगों को संक्रमण से बचा सकते हैं।

आपको अपनी अगली यात्रा के लिए मजबूत और स्वस्थ रहने की आवश्यकता है :-

इसके लिए आपको अपनी Immunity  बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए जैसे:-

  • कोशिश करें कि दिनभर में जितनी बार भी पानी पीएं, उसे हल्का गर्म करके ही पीएं। खासतौर पर ठंडे पानी से फिलहाल परहेज करें। क्योंकि बदलते मौसम में ये आपको बीमार बना सकता है।
  • रोज कम से कम 30 मिनट का समय सिर्फ अपने लिए निकालें। इस बीच योगासन, प्राणायाम और ध्यान लगाएं। परिवार के साथ रहते हैं, तो घर के अन्य सदस्यों को भी ऐसा करने के लिए कहें। इससे तन और मन दोनों तंदुरुस्त होगा।
  • इन दिनों आप जो भी खाना खा रहे हों, कोशिश करें कि उसमें हल्दी, जीरा, धनिया और लहसुन का इस्तेमाल जरूर हो। ज्यादा तेल, बटर वाले खाने से परहेज करें।
  • च्यवनप्राश का एक डब्बा ले आएं। रोज सुबह उठकर फ्रेश होकर एक चम्मच (करीब 10 ग्राम) च्यवनप्राश जरूर खाएं। घर के हर सदस्य को रोजाना एक चम्मच च्यवनप्राश खाने के लिए दें।
  • दिन में कम से कम एक या दो बार हर्बल चाय / काढ़ा पीएं। यहां समझें कि काढ़ा कैसे बनाना है – पानी में में तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, सूखी अदरक, मुनक्का मिलाकर अच्छी तरह धीमी आंच पर उबालें। स्वाद के अनुसार इसमें गुड़ या नींबू का रस मिला सकते हैं।
  • दिन में कम से कम एक या दो बार हल्दी वाला दूध (Golden Milk) पीएं। 150 मिली लीटर गर्म दूध में करीब आधी छोटी चम्मच हल्दी मिलाकर पीएं।
  • नैजल एप्लीकेशन : रोज सुबह और शाम नाक के दोनों छिद्रों में तिल का तेल या नारियल का तेल या घी लगाएं। ध्यान रहे इसकी मात्रा बहुत ज्यादा न हो।
  • ऑयल पुलिंग थेरेपी : एक बड़ी चम्मच (tablespoon) तिल का तेल या नारियल का तेल मुंब में लें। ध्यान रहे इसे पीना / गटकना नहीं है। इसे दो से तीन मिनट के लिए मुंह में घुमाएं और फिर थूक दें। फिर हल्के गर्म पानी से कुल्ला कर लें। ये प्रक्रिया दिन में एक या दो बार की जा सकती है।
  • अगर गले में खरास या सूखा कफ है तो दिन में एक बार स्टीम ले सकते हैं। पुदीने की कुछ पत्तियां और अजवाइन को पानी में गर्म करके इसका स्टीम लें।
  • गुड़ या शहद के साथ लॉन्ग का पाउडर मिलाकर इसे दिन में दो से तीन बार खाएं। हालांकि अगर सूखा कफ या गले में खरास की समस्या लंबे समय तक रहती है, तो बेहतर होगा कि आप किसी डॉक्टर को दिखाएं।

One Reply to “Travel After Covid-19 Pandemic”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *